क्या सुप्रीम कोर्ट द्वारा निकल पाएगा फाइनल ईयर एग्जाम का सॉल्यूशन ?

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें युवा

UGC से कुछ मदद ना मिल पाने के बाद फाइनल ईयर के विद्यार्थियों ने पीएम मोदी के सामने गुहार लगाई। उन्होंने एक ऑनलाइन पोर्टल बनाया और यह तय किया कि इस पोर्टल में 1000 से ज्यादा विद्यार्थियों के साइन होने पर उसे माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी को दे दिया जाएगा। उन विद्यार्थियों ने वह याचिका मोदी जी को दे दी। फाइनल ईयर के विद्यार्थी दिन-रात आस लगाकर बैठे हुए हैं कि कुछ ना कुछ करके उनके भी पेपर टल जाए।

परंतु यदि देखा जाए तो ऐसे लग रहा है कि फाइनल ईयर के विद्यार्थियों के पेपर को दुनिया की कोई भी शक्ति नहीं रोक सकती। इन विद्यार्थियों ने अपनी एड़ी चोटी का जोर लगा कर देख लिया। विद्यार्थियों ने बहुत सारे प्रदर्शन तथा हड़तालें में भी की।

“एन्टी” नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी का नीच कृत्य, कश्मीर को बताया भारत अधिकृत


परंतु UGC पर इसका कोई भी असर होता हुआ नहीं दिखाई दिया। और अब लगभग सभी प्रदेश के यूनिवर्सिटी तथा कॉलेज ने फाइनल ईयर के विद्यार्थियों के लिए डेट शीट निकाल दी है। लगभग 1 हफ्ते के अंदर विद्यार्थियों के पेपर शुरू हो जाएंगे 1 के।

यूनिवर्सिटी तथा कॉलेज ने यह निर्णय लिया है कि वह ऑनलाइन मोड से ही विद्यार्थियों के पेपर लेंगे। ऐसे में अब पेपर रद्द होने की आस लगाना बहुत ही बेवकूफी वाला काम है। इससे अच्छा विद्यार्थियों को अब जी तोड़ मेहनत करना शुरू कर देना चाहिए ताकि वो एग्जाम में अच्छे नंबरों के साथ पास हो सके।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *