हिन्दू हत्यारे टीपू सुल्तान और हैदर अली का नकली इतिहास कर्नाटक की स्कूली किताबों से गायब

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें युवा राजनीति

हिन्दू हत्यारे टीपू सुल्तान और हैदर अली : जहाँ आज शिक्षा नीति को लेकर कई बड़े बदलाव किए गए हैं वहीं कर्नाटक सरकार ने कक्षा 7 के सामाजिक विज्ञान के अध्याय से 18 वीं शताब्दी के मैसूर के विवादास्पद शासक टीपू सुल्तान और उनके पिता हैदर अली (Haider Ali) का अध्याय किताबों से हटा दिया है। कोविड-19 महामारी के कारण 2020-21 के पाठ्यक्रम को घटाने केे लिए कर्नाटक सरकार के निर्णय के बाद यह कदम उठाया गया।

वेबसाइट पर अपलोड हुआ…संशोधित पाठ्यक्रम

कर्नाटक पाठ्यपुस्तक सोसाइटी (KTBS) की वेबसाइट पर संशोधित पाठ्यक्रम अपलोड किया जा चुका है। इससे पता चलता है कि कक्षा सातवीं के समाज विज्ञान की पाठ्यपुस्तक से हैदर अली और टीपू सुल्तान, मैसूर के ऐतिहासिक स्थलों और आयुक्त प्रशासन के बारे में अध्याय पांच गायब है।

इस मामले में केटीबीएस के निर्देशक मेड ग्वाडा ने कहा, “हमने हैदर अली और टीपू सुल्तान के अध्याय हटा दिया गया है. पाठ्यक्रम में जो बदलाव किए गए हैं वो विशेषज्ञों ने किए हैं. हम विशेषज्ञों के काम में हस्तक्षेप नहीं कर सकते हैं. यहां तक कि हम उनके काम में कोई विशेष टिप्पणी या सुझाव भी नहीं दे सकते हैं.”

हालांकि, आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कक्षा छठी और दसवीं की किताबों में टीपू सुल्तान पर अध्यायों को बरकरार रखा गया है। गौरतलब है कि सत्ता में आने के तुरंत बाद, कर्नाटक में भाजपा सरकार ने टीपू सुल्तान की जयंती समारोह को खत्म कर दिया था।

फैसले से खुश नहीं… कांग्रेस सरकार

इस फैसले को सुनकर कांग्रेस विरोध पर विरोध कर रही है। कांग्रेस का कहना है, कि भाजपा सांप्रदायिक राजनीति खेल रही है और इसी क्रम में उसने टीपू सुल्तान पर आधारित अध्याय को बच्चों के सिलेब्स से हटा दिया है। राज्य की विपक्षी पार्टी ने कहा कि भाजपा अब शिक्षा में सांप्रदायिकता घुसा रही है।

राफेल जेट प्लेन आने से टुकड़े-टुकड़े गैंग में खलबली

टीपू सुल्तान का नाम लेकर धमकाया था… हिंदुओं को

आपको बता दें कि शाहीन बाग में सीएए विरोधी उपद्रवियों ने भी टीपू सुल्तान का नाम लेकर मोदी सरकार और हिंदुओं को धमकाया था। एक जिहादी कट्टरवादी ने कहा था – “सुन लो मोदी, हमारी माँ-बहनों ने टीपू सुल्तान को जन्म दिया है और तुम आजादी के 70 बाद हमसे नागरिकता का सबूत माँगते हो, कहते हो कि हमें नागरिकता रजिस्टर की प्रक्रिया से गुजरना होगा। ये लाल किला जहाँ से झंडा फहराते हो, ये क्या तुम्हारे पूर्वजों ने बनवाया? जहाँ ट्रम्प को लेकर गए थे वो ताजमहल क्या तुम्हारे पूर्वजों ने बनवाया था?”

हिन्दू हत्यारे टीपू सुल्तान और हैदर अली का नकली इतिहास हटा कर युदुरप्पा सरकार ने बहुत अच्छा फैसला लिया हैं। इन्हीं टीपू जैसे हथियारो के वजह से आज तक हिंदुस्तान में आतंक खत्म नहीं हो पाए।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *