सुशांत केस बिहार पुलिस

सुशांत मर्डर केस : मुंबई पुलिस हुई बिहार पुलिस के खिलाफ

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें मनोरंजन युवा

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस और भी पेचीदा बनता जा रहा है। हालांकि  इस केस को सुलझाने में बिहार पुलिस अपनी पूरी कोशिश कर रही है। परंतु मुंबई पुलिस, बिहार पुलिस का जरा भी सहयोग नहीं कर रही है।

रिपोर्ट की माने तो बिहार पुलिस के 4 अधिकारी मुंबई केस से संबंधित छानबीन करने गए थे। उन पुलिस अधिकारियों ने यह बताया कि मुंबई चारों के लिए एक नया शहर था और वहां मुंबई पुलिस के द्वारा उन्हें जरा भी सहयोग नहीं दिया गया। बल्कि जहां उनके ठहरने का प्रबंध किया गया था उस जगह से बांद्रा पुलिस स्टेशन का रास्ता भी उन चारों पुलिस वालों को नहीं पता था। इन सब मुश्किलों के बावजूद भी बिहार पुलिस के चारों अधिकारी कोटक महिंद्रा बैंक छानबीन करने पहुंचे और वहां उन्हें पता चला कि सुशांत की संपत्ति का एक बहुत बड़ा हिस्सा गायब है।

दिशा, जो कि सुशांत सिंह राजपूत की सेक्रेटरी थी और सुशांत के सुसाइड के तकरीबन 7 से 10 दिन पहले दिशा ने भी सुसाइड कर लिया था। बिहार पुलिस का मानना है कि दिशा सालियान के केस की जांच करने पर सुशांत की सुसाइड की गुत्थी सुलझ सकती है। इसी वजह से बिहार पुलिस के डीजीपी पांडेय ने मुंबई पुलिस से दिशा सालियान का केस फोल्डर मांगा।

उन्होंने बताया कि पुलिस उन्हें वह फोल्डर देने ही वाली थी परंतु तभी मुंबई पुलिस को एक अननोन कॉल आती है जिसे सुनने के बाद में पुलिस ने बिहार पुलिस को यह कहकर टाल दिया कि उनसे गलती से दिशा सालियान का केस फोल्डर डिलीट हो गया है।

क्या सुशांत के हथियारों ने कराई कंगना के घर के बाहर फायरिंग?

मिली हुई है मुंबई पुलिस

मुंबई पुलिस की इन सब हरकतों को देखकर तो यह लग रहा है कि मुंबई पुलिस भी सुशांत के हथियारों से मिली हुई है। सुशांत के पिता ने इस केस को सीबीआई को सौंपने की याचिका दर्ज कि तो मुंबई पुलिस ने कहा कि उन्हें उनका काम करने थे। जबकि वह बहुत आसानी केस सीबीआई को दे सकते थे मुंबई पुलिस का बिहार पुलिस के खिलाफ हो जाना और उन्हें किसी भी प्रकार की सूची ना देना यह सब इन्हीं बातों को दर्शाती है कि मुंबई पुलिस हत्यारों के साथ मिली हुई है।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *