भारत चीन एनआईसी

नेशनल इनफॉर्मेटिव सेंटर के कंप्यूटर्स पर चीन का साइबर अटैक

टेक्नोलॉजी ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें विदेश

कुछ दिन पहले चीन के द्वारा भारत की जासूसी करने का मामला सामने आया था। दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल सेल टीम को यह मामला सौंपा गया। छानबीन के बाद स्पेशल सेल टीम को यह पता लग पाया है कि भारत के नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर के कई कंप्यूटरों पर हैकर्स ने हलचल की है।

दरअसल एनआईसी के कई कर्मचारियों को एक मेल आता है। जिस कर्मचारी ने उस मेल पर  दिए हुए लिंक पर क्लिक कर दिया उसका सारा डाटा गायब हो गया था तथा जिन्होंने इस मेल पर क्लिक नहीं किया उनका डाटा बचा रह गया।

जांच के बाद पता चला है कि यह मेल बेंगलुरु से भेजा गया था। आईपी एड्रेस से  पता लगाया है कि यह कोई अमेरिकी कंपनी है जिसने मेल भिजवाया था। तकरीबन 100 कंप्यूटर इन हैकर्स के निशाने पर थे। जिनमें से कुछ कंप्यूटर एनआईसी के थे तथा कुछ आईटी सेक्टर के थे ।

यह वह कंप्यूटर है जिनमें भारत से जुड़ी हर एक महत्वपूर्ण इंफॉर्मेशन सेव की जाती है। यह इंफॉर्मेशन भारतीय सुरक्षा, भारतीय जवान, प्रधानमंत्री, बड़े-बड़े वीआईपी  हस्तियों से जुड़ी हुई है।

लदाख सीमा पर चीनी सेना ने लाउडस्पीकर पर बजाए पंजाबी गाने, 1962 युद्ध की “मनोवैज्ञानिक लड़ाई” वाली पुरानी चाल

 

इसके कुछ दिन पहले यह खबर आई थी कि चीन भारत के लगभग 10000 लोगों पर नजर बनाए हुए हैं। यह लोग प्रधानमंत्री केंद्रीय, अन्य मंत्री, हीरो हीरोइन और क्रिकेटर है। यह मुद्दा संसद में भी उठाया गया था। जिसके बाद चीनी दूतावास में इसकी शिकायत दर्ज की गई थी।

एनआईसीटी कंप्यूटर को हैक करने का मामला भी चीन  की ही कोई गंदी साजिश लग रही है। जब चीन से बॉर्डर पर कोई हलचल नहीं की जा रही है या जब चीन बॉर्डर पर भारतीय सेना को हराने में असमर्थ हो गया है। तो अब वह उल्टी-सीधी हरकतें करके भारत को भटकाना चाह रहा है तथा नीचा दिखाना चाह रहा है।

बीते दिनों की बात है जब चीन ने बॉर्डर पर जोर जोर से पंजाबी गाने चलाएं थे और भारतीय जवानों को चिढाया था। उसके बाद अब यह मामला सामने आता है कि चीन भारत के कंप्यूटर को हैक करके इंफॉर्मेशन लेने की कोशिश कर रहा है।

हिंदी में एक बड़ी प्रसिद्ध कहावत है ‘कुत्ते की दुम कभी सीधी नहीं हो सकती’। यह कहावत पूरी तरह से चीन पर लागू होती है। भारत ने ना जाने कितनी बार चीन को करारे जवाब दिए हैं, परंतु चीन है कि अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। अब जब बॉर्डर पर नहीं लड़ा जा रहा है तो वह छल का प्रयोग कर रहा है।

Sharing is caring!

1 thought on “नेशनल इनफॉर्मेटिव सेंटर के कंप्यूटर्स पर चीन का साइबर अटैक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *