हाथरस में जातीय दंगे फैलाने के लिए भेजे 50 करोड़ : कांग्रेस के नेता का संदिग्ध वीडियो आया सामने

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें राजनीति

पिछले कल ही यूपी पुलिस ने 4 संदिग्धों को दंगे कराने की साजिश में पकड़ा था।  इन संदिग्धों का रिश्ता पीएफआई से माना जा रहा था। छानबीन करने के बाद पता चला कि पीएफआई को मॉरीशस से ₹50 करोड़ दंगे कराने के लिए आ गए थे। इस पूरे मिशन की फंडिंग 100 करोड़ रुपए की थी। जिसमें से 50 करोड़ रुपए भेज दिए गए थे।

यूपी सरकार का दावा है कि यूपी में जातीय हिंसा फैलाने के लिए यह सारी साजिशें रची जा रही है। सबसे पहले तो एक  रातों रात एक वेबसाइट बनाई जाती है। जिसमें लोगों को हाथरस पीड़िता कांड की आड़ में दंगे फैलाने के लिए बोला जाता है और दंगों से कैसे बचें इस बात के लिए भी कहा जाता है। उसके बाद जब ईडी ने छानबीन की तो उन्हें यह पता लगा कि मॉरीशस से 50 करोड़ रुपए भेजे गए थे।

अभी थोड़ी देर पहले की ही बात है जब एक कांग्रेस के नेता श्योराज जीवन का संदिग्ध वीडियो क्लिप सामने आता है। इस वीडियो क्लिप में वह कह रहे हैं कि दो बंदे यहां से मरेंगे दो बंदे वहां से मरेंगे। हाथरस कांड तो कब का शांत हो गया था। परंतु मैंने ही उसमें दोबारा आग लगाई।

मिस्र में 2500 साल बाद जनता के सामने खोला गया मम्मी का ताबूत

इस वीडियो क्लिप को देखने के बाद यही लग रहा है कि इन दंगों के पीछे कांग्रेस की ही कोई साजिश थी। यह जातीय दंगे योगी सरकार की छवि को बिगाड़ने के लिए किए जा रहे थे। हो सकता है कि दलित युवती की हत्या भी दंगे फैलाने के लिए ही की गई हो। अब जब कांग्रेस नेता का वीडियो क्लिप सामने आ गया है तो इस पर कोई शक नहीं है कि दंगे फैलाने के लिए कांग्रेस ने ही कोई साजिश रची हो।

यदि छानबीन करने पर कांग्रेस का नाम ही सामने आता है तो योगी सरकार को चुप नहीं बैठना चाहिए और कांग्रेस के खिलाफ कोई ना कोई एक्शन जरूर लेना चाहिए। उनके खिलाफ सबूत मिलना तो शुरू हो गए हैं। सबसे पहले उन्हीं के नेता का एक वीडियो सामने आता है जिसमें वह दंगों की बात कर रहे हैं। थोड़े से इंतजार की जरूरत है और पूरी कांग्रेस पार्टी का नाम इस साजिश में  सामने आएगा।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *