अर्नब गोस्वामी और नाविका कुमार के खिलाफ केस करने को कैसे लामबंद हुआ पूरा बॉलीवुड माफिया

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें मनोरंजन

सुशांत सिंह राजपूत के मामले में बॉलीवुड बुरी तरह फंस गया है और उसके बाद जैसे जैसे परते खुलने लगी वैसे वैसे फिल्म इंडस्ट्री का वो काला सच सामने आने लगा जिसको कम या ज्यादा जानते तो सब थे लेकिन खुल कर बोलने का हिम्मत कोई नहीं करता था। ड्रग्स, कास्टिंग काउच जैसे घिनौने काम फिल्म जगत के खास हिस्से बन गए थे। बड़ी बड़ी पार्टियों का आयोजन होता और उसमे जम कर शराब, ड्रग्स और कास्टिंग काउच जैसे काम होते। लेकिन सुशांत सिंह की मौत ने वो सच भी दुनिया के सामने लाकर रख दिया हैं।

रिपब्लिक टीवी के अर्नब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी और टाइम्स नाउ की नवीका कुमार, राहुल शिवशंकर ने जैसे ही ये सच दुनिया के सामने लाकर रख दिया वैसे ही इन बॉलीवुड के प्रमुख संगठनों और प्रोडक्शन हाउसेज को तीखी मिर्ची लग रही हैं। ये वो सच है जिसे सब दबाना चाह रहे हैं क्योंकि इसके पीछे करोड़ों रुपए का खेल तो है ही साथ में उन लोगों की इमेज का भी सवाल है जिन्हें भारत के लोग हीरो या हीरोइन मानते है।

अब बॉलीवुड के प्रमुख संगठन, प्रोडक्शन हाउस, वामपंथी और कोमी लोग बेशर्मी की हद दिखाते हुए इक्कठे होकर दिल्ली हाईकोर्ट गए हैं जहां इन्होंने रिपब्लिक टीवी के अर्नब गोस्वामी, प्रदीप भंडारी और टाइम्स नाउ की नवीका कुमार, राहुल शिवशंकर के खिलाफ याचिका दायर की हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक दायर याचिका में सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी मौत और उसके बाद सामने आए ड्रग स्कैंडल के मद्देनजर चैनलों को बॉलीवुड के खिलाफ ‘गैर-जिम्मेदार, अपमानजनक और अपमानजनक टिप्पणी’ करने से परहेज करने के लिए कहा।

याचिका में चैनलों को फिल्म उद्योग के खिलाफ उनके द्वारा प्रकाशित सभी कार्यक्रमों को वापस लेने को कहा गया हैं लेकिन सच तो यह है कि इन बड़े लोगों की फैलाई गन्दगी और ड्रग्स की बदबू को अरब के सभी इत्र मिलकर भी कमनहीं कर सकते हैं। आमिर खान, शाहरुख खान, करण जौहर, फरहान अख्तर, राकेश रोशन, सलमान खान और उनके भाई सोहेल खान, अजय देवगन और आदित्य चोपड़ा के स्वामित्व वाले चार फिल्म संगठनों और 34 प्रोडक्शन हाउस ने दोनों चैनलों पर मुकदमा दायर किया है।

टीआरपी को लेकर इंडिया टुडे ग्रुप के राहुल कंवल ने बोला एक नंबर झूठ

इन संगठनों और प्रोडक्शन हाउसेज का दावा है कि कथित धब्बा अभियान के कारण बॉलीवुड से जुड़े लोगों की आजीविका प्रभावित हो रही हैं। आरोप है कि ड्रग कल्चर में पूरे उद्योग को शामिल करके उनकी निजता पर भी हमला किया गया जिससे इन सभी को अपूरणीय क्षति हुई।

इतना ही नहीं जब सनातन धर्म और राष्ट्र के लिए रिपब्लिक टीवी और टाइम्स नाउ ने झंडा बुलंद क्या किया वामी मीडिया को बॉलीवुड ड्रग्स गिरोह के साथ हाथ मिलाने की सूझ गई लेकिन वह भूल जाती है कितनी भी जतन कर ली जाए देश की राष्ट्रवादी जनता उनके साथ है।अब देखना होगा माननीय दिल्ली उच्च न्यायालय को क्या उचित लगता है क्या अनुचित।

Sharing is caring!

1 thought on “अर्नब गोस्वामी और नाविका कुमार के खिलाफ केस करने को कैसे लामबंद हुआ पूरा बॉलीवुड माफिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *