नवरात्री पर हिन्दू धर्म का अपमान करने वाली दीपिका राजावत को गिरफ्तार करने की मांग तेज़

ट्रेंडिंग धर्म प्रमुख खबरें

आसिफा कठुआ बलात्कार-हत्या का मामला उठाने के बाद शोहरत और विवाद हासिल करने वाली वकील-सामाजिक कार्यकर्ता दीपिका सिंह राजावत इन दिनों फिर से चर्चा में हैं। सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं का एक वर्ग राजावत की गिरफ्तारी की मांग कर रहा है, जिसने सोमवार रात अपने ट्विटर हैंडल पर एक विवादास्पद कार्टून पोस्ट किया था।

हिन्दू विरोधी दीपिका राजावत ने कार्टून पोस्ट करते हुए अपने ट्वीट को ‘आयरनी’ (विडंबना) का कैप्शन दिया, जिसमें नवरात्रि के दौरान एक व्यक्ति देवी के पैर छूते हुए दिखाया गया है जबकि वहीआदमी बाकी दिनों में महिलाओं पर यौन हमले का प्रयास करता है।

इसी के उलट ईद के दिन ट्वीट में वह “सेक्युलर भारत” का शब्द इस्तेमाल करती है जिसमें सब मिल जुल के रह सकते है वह भी इसलिए क्योंकि वह मुस्लिम परस्ती है। सच तो यह है कि इस्लाम समावेशी बिलकुल नहीं है क्योंकि उसके ही 72 फिरके एक दूसरे से लड़ते फिरते है और उसकी अहसहनषीलता को जानने के लिए आप फ्रांस के टीचर सैमुएल पैटी हत्याकांड का ताज़ा उदाहरण ले सकते है जहाँ सिर्फ मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर इतने मुक्त फ़्रांसिसी समाज में उसके ही मुस्लिम छात्र ने उसका गला काट दिया क्योंकि उसने गुस्ताख़-ए-रसूल (रसूआल्लह मोहम्मद ) का अपमान किया था।

जैसा कि #Arrest_Deepika_Rajawat ने माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट पर ट्रेंड करना शुरू कर दिया, गुस्साए ट्विटर यूजर्स ने विवादित वकील दीपिका राजावत पर “हिंदू और उनके त्योहारों को शर्मसार करने” का आरोप लगाया।

कौन हैं दीपिका राजावत?

कठुआ में आठ साल की बच्ची आसिफा से बलात्कार और हत्या का मामला सामने आने पर दीपिका सिंह राजावत ने लाइमलाइट बटोरी। मामले के दौरान, राजावत ने सुरक्षा की मांग भी की थी क्योंकि उन्हें प्रभावित परिवार का प्रतिनिधित्व करने के लिए धमकी दी गई थी। हालांकि, नवंबर 2018 में, उसे पंजाब के पठानकोट में ट्रायल कोर्ट में चल रहे मामले से हटा दिया गया था इस आधार पर क्योंकि
आठ वर्षीय पीड़िता के पिता द्वारा एक आवेदन दायर किया था।

दीपिका राजावत पर आरोप लगा था कि इन्होने आसिफा के नाम पर ऑनलाइन डोनेशन कैंपेन चलाया और करीब 75 लाख की रकम बटूर ली और फिर केस की सुनवाइयों में पहुंचना बंद कर दिया। हालाँकि जैसे चोर अपनी गलती नहीं मानता है वैसे ही दीपिका ने भी ऐसे सभी आरोपों को ख़ारिज कर दिया किन्तु तब से ही उनके मौकापरस्त और बेशर्म चरित्र से देश और दुनिया वाकिफ हो गई।

नाम की हिन्दू दीपिका राजावत उर्फ़ कशीर कूर को शायद हिन्दू धर्म छोड़े अरसा हो चुका है और जिन मुस्लिम आकाओं को वह खुश करती रहती है उसी के चलते ही वह फर्ज़ी हिन्दू पहचान को लेकर उसी धर्म के विरोध में ऐसा कृत जानभूझकर करती है और फिर खुद के लिए विक्टिम कार्ड खेलने लगती है लेकिन माफ़ी यह मांगने से रही आखिर काफिरो के यहाँ जिहाद करना इनके यहाँ पाक चीज़ पानी जाती है। वह क्यों नहीं खुल के अपनी मुस्लिम पहचान को सामने लाती है ? घृणा ही करनी है तो ईमानदारी से करें न कि बोझ से …..मुस्लिम बन के सामने आएं दीपिका जी इससे आपके मन का बोझ कम हो जायेगा और आप हिन्दू देवी-देवताओं के प्रति आराम से ज़हर घोल पाएंगी।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *