किसानों का दिल्ली कूच लेकिन पुलिस रोकने को तैयार

ट्रेंडिंग प्रमुख खबरें

मोदी सरकार ने जो तीन नए केंद्रीकृत कानून पास किए हैं अब उसके खिलाफ किसान निर्णायक लड़ाई लड़ने के मूड में दिख रहे हैं। किसानों ने दिल्ली के लिए कुच कर दिया है। बृहस्पतिवार को हरियाणा पंजाब दिल्ली एनसीआर समेत राजू को जोड़ने वाले बॉर्डर को सील कर दिया गया है। इस किसान आंदोलन से दिल्ली मेट्रो भी प्रभावित होगी।

कृषि सुधार कानून के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान राजधानी दिल्ली में ‘दिल्ली चलो’ प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले हजारों किसान दिल्ली में प्रदर्शन करेंगे केंद्रीय यूनियनों ने श्रम सुधारों को लेकर देशव्यापी यानी भारत बंद का आवाहन किया है। प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल में रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया है जिससे ट्रेनों का आवागमन बाधित हुआ है।

किसानों के ‘दिल्ली चलो’ प्रदर्शन के मद्देनजर फरीदाबाद और सिंघू गांव के पास दिल्ली-हरियाणा सीमा पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। दिल्ली-फरीदाबाद सीमा पर तीन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) बटालियन के अलावा कम से कम दो पुलिस स्टेशनों से बलों को तैनात किया गया है। स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है।

पुलिस और स्थानीय प्रशासन इस प्रदर्शन को रोकने के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है। विरोध प्रदर्शन के दौरान अगर कुछ अवांछित तत्वों की वजह से सरकारी संपत्ति या फिर हिंसात्मक कदम उठाया जाता है तो उसको लेकर भी प्रशासन एकदम मुस्तैद है।

दूसरी तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल किसानों के साथ खुलकर अपना समर्थन दिया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “केंद्र सरकार के तीनों खेती बिल किसान विरोधी हैं। ये बिल वापिस लेने की बजाय किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, उन पर वॉटर कैनन चलाई जा रही हैं। किसानों पर ये जुर्म बिलकुल ग़लत है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन उनका संवैधानिक अधिकार है।”

किसानों के प्रदर्शन की वजह से दिल्ली मेट्रो 2:00 बजे तक बंद रहेगी। इस अवधि के दौरान दिल्ली के 12 मेट्रो स्टेशन से लोगों के बाहर निकलने पर भी प्रतिबंध रहेगा। पंजाब-हरियाणाों किसानों को दिल्ली में घुसने से रोकने के लिए सीमा पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

 

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *