त्रिपुरा में भाजपा की जीत

त्रिपुरा में भाजपा की जीत पूर्वोत्तर में भयंकर लूट की कहानी का अंत

सतीश चंद्र मिश्र   त्रिपुरा में भाजपा की जीत : त्रिपुरा की जीत के पीछे उस भयंकर लूट के खात्मे की कहानी भी है जिसने त्रिपुरा के नौजवानों की किस्मत बदल दी और पूरे पूर्वोत्तर का खर्च आधा कर दिया है। 2018 में कम्युनिस्टों के सफाए के साथ त्रिपुरा में पहली बार बनी भाजपा की […]

Continue Reading
संघ सरसंघचालक मोहन भागवत

संघ सरसंघचालक मोहन भागवत जो बोलते है उस पर गौर करना ज़रूरी

कौशल सिखौला   संघ सरसंघचालक मोहन भागवत जिस पद पर हैं, उस पद पर बैठे महानुभाव प्रायः बहुत कम बोलते हैं ! वैसे भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोग बोलते कम और करते ज्यादा हैं ! सच कहें तो संघ की बुनियाद ही कर्म पर पड़ी है तो फल की प्राप्ति निश्चित है ! संघ […]

Continue Reading
रामायण एक्सप्रेस

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन स्टाफ की ड्रेस भगवा से हो गई क्रीम ! बहुसंख्यक समाज का विरोध सरकार को दिख गया

मोदी सरकार में देश की संस्कृति से जुड़ी ट्रेन रामायण एक्सप्रेस का शुभारंभ जब से किया है तब से ही हिंदू विरोधी खेमे में खुल कुलबुलाहट मची हुई है। वह निरंतर इसी प्रयास में था कि कोई ऐसी घटना घटी जिससे वह प्रत्यक्ष रूप से मोदी सरकार पर हमलावर हो जाए और ठीक ऐसा हुआ। […]

Continue Reading
मित्रता

दुनिया में सबसे अनमोल रिश्ता होता है मित्रता

संदीप कुशवाहा   इस दुनिया में सबसे अनमोल होता है मित्र और मित्रता का रिश्ता जो व्यक्ति जन्म के बाद स्वयं बनाता है। पृथ्वी पर मानव के रूप में अवतरित होते ही व्यक्ति को बहुत सारे रिश्ते बने बनाए मिल जाते हैं जिनके साथ वह पूरी जीवन रहता है, वह उनसे अलग नहीं हो पाता […]

Continue Reading
नवजोत सिंह सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू : पतन की पराकाष्ठा

एस.ओम प्रकाश अरुण जेटली बहुत बड़े नेता थे, सही है लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू के साथ अकालियों के कारण हुआ व्यवहार भी सही नहीं था लेकिन क्षुब्ध होकर सिद्धू ने जो किया वह तो सारी सीमाएँ ही लाँघ गया है। यदि इमरान इसका बड़ा भाई है तो फिर हाफिज सईद क्या है ? ऐसा लगता […]

Continue Reading
मोदी-योगी की फोटो

मोदी-योगी की फोटो देख मन में जिज्ञासा तो होगी ही !

रतिभान त्रिपाठी मोदी-योगी की फोटो देख मन में ….. राजनीति में हर तस्वीर, हर शब्द,हर भाव-भंगिमा के मायने हुआ करते हैं। राजनीति में जो दिखता है वह होता नहीं, जो होता है, वह दिखता नहीं। राजनीति शायद ही कभी सीधी चाल चलती हो। उसमें हर बात, हर कदम नफा-नुकसान के देखकर तय होता है। आज […]

Continue Reading
कृषि कानून वापस

देश की सुरक्षा हेतु कृषि कानून वापस लेकर “मोदी जी ने किया है तो ठीक ही किया होगा”

सजल गुप्ता कुछ दिनों पहले अजित डोवाल सर ने क्या कहा था… गुजरात में सरदार पटेल की विराट प्रतिमा के नीचे खड़े होकर उन्होंने कहा था कि “देशों के बीच के युद्ध अपने 4th स्टेज में जा चुके हैं। अब आमने सामने लड़ाई का जमाना चला गया। अब किसी देश की सिविल सोसायटी को ही […]

Continue Reading
तत्व हिन्दुत्व

‘तत्व’ के अर्थ में समझे हिन्दुत्व को

राज शेखर तिवारी   तत्व का अर्थ संस्कृत भाषा में “ सच्चाई “ या सत्य के रूप में ही लिया जाता है।जै से घड़े का तत्व मिट्टी है। अर्थात् घड़े की सच्चाई “ मिट्टी “ है। अब कोई कहे की मेरी मिट्टी लौटा दो और अपना घड़ा ले जाओ , तो क्या यह संभव है। […]

Continue Reading
कृषि कानून वापस

कृषि कानून वापस होने पर अब उत्तरदायित्व राज्य सरकारों पे

प्रमोद शुक्ल केंद्र सरकार ने बहुत ही‌ गरिमापूर्ण तरीक़े से कृषि क़ानून वापिस ले लिया है। क्योंकि किसानों की आड़ लेकर कुछ लोग करीब एक साल से आढ़तियों, बिचौलियों और दलालों के लिए काम कर रहे थे,, आंदोलन कर रहे थे। न्यायपालिका भी बहुत लंबे समय से इस मुद्दे पर स्पष्ट रूप से अपनी कोई […]

Continue Reading
मीडिया क्या कर रहा है

मीडिया क्या कर रहा है ? समाज एवं देश पर गहराता उसका प्रभाव कुछ बताता है !

प्रमोद शुक्ल  मीडिया क्या कर रहा है ? उसके कामों का दुष्प्रभाव देश व समाज पर कितना गहरा हो रहा है….इसे समझने के लिए चीफ जस्टिस आफ इंडिया द्वारा की गई टिप्पणी बहुत ही महत्वपूर्ण है… इसी के साथ दूसरी तरफ सोशल मीडिया की लोकप्रियता कितनी तेजी से बढ़ी है और उसका असर कितना गहरा […]

Continue Reading