तीस्ता जावेद सीतलवाड़

तीस्ता जावेद सीतलवाड़ – अर्बन नक्सलियों की चहेती

कौशल सिखौला तीस्ता जावेद सीतलवाड़ ! एक बड़ा अर्बन नक्सल सा नाम है न ?  अर्बन लॉबी के पटल पर विश्वभर में जाना जाता है। मोदी को सुप्रीम कोर्ट से गुजरात दंगों में 100% क्लीनचिट मिलने के बाद परसों हिरासत में ली गई हैं, जेल जाने के पूरे आसार हैं। देश में लाखों छोटे बड़े […]

Continue Reading
हिंदी पत्रकारिता दिवस 2022

अमित के साथ – मुद्दे की बात भाग 4 : हिंदी पत्रकारिता दिवस 2022 विशेष

हिंदी पत्रकारिता दिवस 2022 : नमस्कार ! डिजिटल पाठकों का यूथ चौपाल की अनोखी विश्लेषणात्मक चर्चा श्रृंखला -‘अमित के साथ-मुद्दे की बात’ के हिंदी पत्रकारिता दिवस विशेषांक में। आज भारतीय हिंदी पत्रकारिता की समृद्ध धरोहर का जश्न मनाने और वर्तमान समय में हो रही पत्रकारिता को लेकर चिंतन-मंथन करने की आवश्यकता है क्योंकि ये समय […]

Continue Reading
फेसबुक

वामपंथियों से छिनते उनके हथियार ! सोशल मीडिया में फेसबुक ने किया लेफ्ट का हाल बेहाल

हममें से अधिकांश की पहली पसंद फेसबुक है। यह स्वयं में परिपूर्ण मीडिया साधन है। इसमें आप ही सम्पादक, पत्रकार, प्रकाशक और मुद्रक हैं। वामपंथ का तिलिस्म तोड़ने में इसका योगदान सदैव याद किया जाएगा। कभी मीडिया पर वामपंथी ईकोसिस्टम का एकाधिकार था। आज भी उनका बाहुल्य है, लेकिन सोशल मीडिया के दबाव में आज […]

Continue Reading
NDTV राष्ट्रपति भवन

एक वो ज़माना भी था जब NDTV के लिए राष्ट्रपति भवन था बपौती !

मनीष शर्मा एक वो भी ज़माना था, जब राष्ट्रपति भवन में NDTV की 25 वी सालगिरह मनाई गई थी….एक private चैनल का कार्यक्रम राष्ट्रपति भवन में?? यही लोग आज कह रहे हैं कि सरकार एक Filmmaker का promotion कर रही है।  वीडियो में मुकेश अम्बानी भी दिख रहे हैं, जिन्हें सम्मान दिया गया है……ऐसा बताते हैं […]

Continue Reading
वैकल्पिक मीडिया

वैकल्पिक मीडिया का जाल खड़ा हो चुका है

अमित सिंघल कश्मीर फाइल्स की सफलता की बात नहीं कर रहा हूँ। बल्कि यह कि अगर सोनिया सरकार होती तो इस फिल्म को सेंसर बोर्ड से क्लीयरेन्स ही ना मिलती। कोर्ट जाने पर फिल्म में डेढ़ सौ कट बतला दिए जाते जिससे फिल्म कारन जौहर की फिल्म की तरह चॉकलेटी हो जाती। वहशी लोगो को […]

Continue Reading
अमित के साथ मुद्दे की बात – भाग 3

अमित के साथ मुद्दे की बात – भाग 3 : विधानसभा चुनाव 2022 के अहम सवाल

अमित के साथ मुद्दे की बात – भाग 3 : नमस्कार डिजिटल पाठकों ! स्वागत है आपका यूथ चौपाल की अनोखी विश्लेषणात्मक चर्चा श्रृंखला – ‘अमित के साथ-मुद्दे की बात’ के भाग 3  में। मेरा नाम है हर्ष पाण्डेय और इस भाग में हम बात करेंगे 5 राज्यों में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव 2022 से […]

Continue Reading
रोहित सरदाना

2022 चुनावों में विश्लेषण तो हुआ लेकिन रोहित सरदाना की याद आ गई

प्रमोद शुक्ल कुछ जगह वाकई खाली ही रह जाती है। कुछ लोगों का विकल्प जल्दी नहीं मिल पाता है। कुछ लोग सच में सबसे अलग होते हैं। उनके जैसा दूसरा कोई हो ही नहीं सकता है। चुनाव परिणाम और उसका विश्लेषण जानने के लिए बहुत लंबे समय बाद आज पूरे दिन टीवी देखना पड़ा। बार-बार […]

Continue Reading
जयप्रकाश चौकसे

काश ! आने वाली पीढ़ी वामी जयप्रकाश चौकसे से प्रेरणा नहीं सबक ले पाती

पंकज कुमार झा इन दिनों मैं लगातार यह महसूस कर रहा था कि जयप्रकाश चौकसे अब थोड़े से बदल गए हैं। उनके विचार अब देशद्रोही जैसे नहीं होते थे। देवी-देवताओं का नाम भी उतने हिक़ारत से नहीं ले रहे थे। कई बार सोचा कि इस बदलाव पर लिखूं। पर लिख नहीं पाया। आज पता चला […]

Continue Reading
चुनाव आयोग

चुनाव आयोग की सख्ती टीवी न्यूज़ चैनलों के आगे फेल

कौशल सिखौला चुनाव आयोग ने सख्ती तो की  पर टीवी न्यूज चैनलों के कारण प्रभावहीन होती जा रही है। कमाल की बात है कि मतदाताओं की लाइन लगी है और रिपोर्टर उनसे कैमरे पर चुनावी मुद्दे पूछ रहे हैं ? आश्चर्य की बात है कि कतार में खड़े मतदाता यहाँ तक बता रहे हैं कि […]

Continue Reading
इलेक्ट्रॉनिक मीडिया

सोशल मीडिया का दबाव ! …..इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की भी भाषा बदल रही

बदल रही है इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की भी भाषा सोशल मीडिया का दबाव अब अपना असर दिखाने लगा है। हिजाब विवाद में दुनिया भर में कहां कब और कैसे प्रतिबंध लगाए गए, वह भी बताया जा रहा है, यह बदलाव अच्छा है।.मीडिया और मीडिया के कुछ मिडियासुरों ने खुद को समाज का बाप समझ लिया था। […]

Continue Reading