‘घुस के मारो सालों को’: बंगाल में हिन्दुओं के साथ हो रहा अन्याय, देखें वीडियो

ट्रेंडिंग धर्म प्रमुख विषय

बंगाल में हिन्दुओं के साथ अन्याय : 5 अगस्त को राम जन्म भूमि के ऐतिहासिक मौक़े पर पश्चिम बंगाल में हिंसा का मामला सामने आया। जबकि 5 अगस्त के दिन ममता सरकार ने सम्पूर्ण प्रदेश में लॉकडाउन रखा था। तब भी ऐसी घटना सामने आई। जबकि भाजपा सरकार ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से निवेदन किया था कि 5 तारीक को लॉकडाउन हटा दिया जाए और किसी दूसरे दिन रखा जाए जबकि ममता बनर्जी ने इस फैसले को ठुकरा दिया था।

आपको बता दें कि इस ऐतिहासिक मौके पर बंगाल के खड़गपुर में बीजेपी समेत कई हिंदू संगठनों ने अलग-अलग जगहों पर पूजा का आयोजन किया था। जिन्हें पुलिस ने जबरन रुकवा दिया। केवल रुकवा ही नहीं उन्हें घसीटकर बाहर निकला और लाठी चार्ज किया और मंदिर को भी हानि पहुँचाई ।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ही नहीं मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भी भारी संख्या में मंदिरों में घुस कर हिंदुओं को पूजा करने से रोका था। और ये सब काम में पुलिस भी उनका साथ दे रही थीं। और जानबूझ कर हिंसा का माहौल पैदा किया था । जिससे कि वह हिन्दुयों की पूजा पाठ रुकवा सकें। ये पहली बार नहीं है यहां राम के नाम पर होने वाली हर पूजा पर हिन्दुयों को निशाना बनाया जाता है।

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि एक हिन्दू दुकान के सामने भगवा रंग का झण्डे लगा रहा हैं जिस पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने झण्डे पर गुस्सा दिखाया और उसे हटाने की हर संभव कोशिश की। इससे साफ समझ आ रहा है कि मुस्लिम व्यक्ति को भगवा रंग के झण्डे से कितनी नफ़रत हैं।

अयोध्या ही नहीं काशी और मथुरा भी लेके रहेंगे !

जब हिन्दू ने इस पर आपत्ति जताई तो मुस्लिम ने धमकाते हुए कहा पूरा भारत मेरा और मैं इस झंडे को जला दूंगा। जिसके बाद मुस्लिमों समुदाय की भीड़ इकट्ठा हुई और दोनों समुदाय के बीच विवाद शूरू हो गया। रज़ा बाज़ार इलाके के दूसरे वीडियो में भी ये साफ देखा जा सकता है कि मुस्लिम समुदाय झंडे उतरने की कोशिश में जुटी है और एक आदमी कहता है की उतारो-उतारो सब को (झंडे)। इसके बाद दूसरा व्यक्ति कहता है की घुस के मारो सालों को। घटनास्थल पर दंगे जैसे हालात होने के पहले पुलिस आ गई और स्थिति को नियंत्रण में किया।

वहीं सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर ट्रेंड कर रहा है जिसमें मुस्लिम समुदाय के लोग भगवा रंग का झंडा फेंकता है, और हिन्दुयों की पूजा पाठ रोकते हैं। जिसमें मुस्लिम समुदाय के उपद्रव की घटना साफ दिख रही हैं। मुस्लिम को इस बात से तकलीफ़ थी कि हिन्दू लॉकडाउन में राम के नाम की पूजा अर्चना कर रहे है। वही दूसरी तरफ देखा जा सकता है कि मुस्लिम खुद भी भारी संख्या में झुंड बनाकर अलग-अलग जगह एकत्रित हुए हैं।

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम की दंगाई इतनी बढ़ गई है कि वह सरेआम ही हिंदुओं को धमकी देते हैं। आप खुद ही देख सकते हैं कि पश्चिम बंगाल में हिंदुओं के साथ कितना अन्याय किया जाता है। उन्हें खुद अपने देवी-देवताओं की पूजा करने की भी आजादी नहीं हैं। और ममता बनर्जी चुप होकर यह सब देखती रहती हैं। हां, क्योंकि वह खुद भी ‘जय श्री राम नहीं ‘ बल्कि ‘जय मीम और जय भीम’ करने वाली हैं।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *