मौनी बाबा मनमोहन सिंह

मौनी बाबा मनमोहन सिंह अब क्यों बोलने लगे है ?

विचार ट्रेंडिंग राजनीति

मौनी बाबा मनमोहन सिंह अब क्यों बोलने लगे अगर इतना कुछ प्रधानमंत्री रहते हुए सोचे और बोल लेते तो ना आज यह चीन के साथ तनाव की समस्या होती ना आज वह पूर्व प्रधानमंत्री होते।  आज माननीय मौनी बाबा को समझना चाहिए कि यह समय परिवार भक्ति करने का नहीं है, परिवार के एजेंट को चलाने का नहीं है।

आज का समय तो राष्ट्रवाद की बात करने और अपनी राष्ट्र की भक्ति करने का समय है। उन्हें यह भी ज्ञात होना चाहिए कि वह पूर्व में प्रधानमंत्री रहे है।

उनका बयान विश्व में दिखाया जा रहा होगा आज अपनी भूमिका को निभाने का कार्य करिए। आज राष्ट्रभक्ति की ओर अपने आप को समर्पित करिए। परिवार की मोह माया में तो आज तक आपने अपने जीवन को व्यतीत कर दिया।

आज का समय अपने राष्ट्र को देने का है, यह समय परिवार भक्ति का नहीं देशभक्ति का है। आज तक जब मौनमोहन सिंह बोलते है तो लगता है किसी ने बंद पड़े रिमोट में बैटरी डाल दिये हों।

आज चीन के खिलाफ पूरा देश एक साथ खड़ा है। आज पूरा देश भारतीय सेना के पराक्रम का बखान कर रहा है लेकिन कांग्रेस पार्टी और वाम दल चीन की एजेंट बनकर कार्य कर रहे हैं। आज जो भी ऐसे हालात हैं और इसके जिम्मेदार कहीं ना कहीं मनमोहन सिंह आप भी रहे होंगे।


चीन से शांति वार्ता के लिए “पप्पू” राहुल गाँधी को ही भेजना होगा ठीक

क्योंकि आपने भी पूर्व में देश की बागडोर संभाली है तो इसलिए मैं कहना चाहता हूं कि अपने बयान को जरा सोच कर दीजिए और फिर बोलिए या तो हमेशा के लिए मौन ही रह जाइये क्योंकि वही ज्यादा अच्छा रहेगा।

जब बोलना था तब तो आपने कुछ बोला ही नहीं ! आज जब हमारी सरकार और सेना राष्ट्र हित में कार्य कर रही है आपने सारी जिम्मेदारी को निभा रही है तब आपका मौन टूटा है इससे अच्छा आप मौन ही रहे तो बेहतर है मौनी मनमोहन सिंह जी।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.