रामायण एक्सप्रेस

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन स्टाफ की ड्रेस भगवा से हो गई क्रीम ! बहुसंख्यक समाज का विरोध सरकार को दिख गया

ट्रेंडिंग धर्म प्रमुख विषय

मोदी सरकार में देश की संस्कृति से जुड़ी ट्रेन रामायण एक्सप्रेस का शुभारंभ जब से किया है तब से ही हिंदू विरोधी खेमे में खुल कुलबुलाहट मची हुई है। वह निरंतर इसी प्रयास में था कि कोई ऐसी घटना घटी जिससे वह प्रत्यक्ष रूप से मोदी सरकार पर हमलावर हो जाए और ठीक ऐसा हुआ।

रामायण एक्सप्रेस में काम करने वाले स्टाफ के लिए विशेष ड्रेस कोड निर्धारित की गई थी आईआरसीटीसी ने उन्हें भगवा रंग की यूनिफार्म पहनने की बात रखी थी क्योंकि उसका कुतर्की पक्ष यह था कि भगवा रंग सीधे प्रभु श्री रामचंद्र से जुड़ा हुआ है जिनके नाम पर यह ट्रेन है लेकिन यथार्थ बोध हो कि भगवा रंग आस्था का प्रतीक है, सनातन धर्म का अभिन्न प्रतीक है। क्या ट्रेन में काम करने वाला स्टाफ भगवा रंग की यूनिफार्म पहन, रुद्राक्ष की माला पहन वाटरिंग, कुकिंग का काम करेगा ?


दुनिया में सबसे अनमोल रिश्ता होता है मित्रता

दुनिया में सबसे अनमोल रिश्ता होता है मित्रता

 


आईआरसीटीसी द्वारा लिया गया यह फैसला यह बिल्कुल अनुचित फैसला था और इस पर बहुसंख्यक समाज की तरफ से विरोध होना लाजमी था और ठीक हुआ भी ऐसा।

जब बहुसंख्यक हिंदूसमाज ने बवाल खड़ा कर दिया तो इसके बाद बाद आनन-फानन में ड्रेस कोड को चेंज कर दिया गया और भगवा रंग की जगह क्रीम कलर ने ले लिया, जैसे क्रीम कलर सेकुलरिज्म का प्रतीक हो।

विरोध करने का असर,  आईआरसीटीसी द्वारा संचालित रामायण एक्सप्रेस में पहले भगवा वस्त्र पहनकर खाना परोस रहे कर्मचारियों का अब ड्रेस कोड बदला नया वीडियो सामने आया हैं। सरकार सुन रही है और सरकार देख भी रही है बस आप गलत पर संगठित हो आवाज उठाना सीख जाईये..

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *