Rewan also arrested after Tausif in Nikita murder case

निकिता मर्डर केस में तौसीफ के बाद रेवान भी गिरफ्तार

ट्रेंडिंग धर्म युवा
Spread the love

निकिता मर्डर केस में तौसीफ के बाद रेवान भी गिरफ्तार, भाई ने कहा- अगर मुस्लिम की बेटी होती तो सारा प्रशासन यहाँ होता

लव जिहाद की घटनाएं रोज ही सामने आती है जिसमें एक मुस्लिम लड़के लगातार हिन्दू लडकियों को अपने प्यार के जाल में। फसा कर उनका धर्म परिवर्तन करके घिनौने काम को अंजाम दे रहे हैं। दिल्ली से सटे हरियाणा के बल्लभगढ़ थाना क्षेत्र में बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता तोमर की हत्या तौसीफ नाम के मुस्लिम युवक ने कर दी जिसका प्रमाण सीसीटीवी में कैद है। इस वारदात को अग्रवाल कॉलेज के पास अंजाम दिया गया। तौफीक अपने एक साथ के साथ कार में बैठ कर आया और जब निकिता अपना पेपर देकर बाहर आई तो तौफीक उसे जबरदस्ती अपरहण करने की कोशिश करने लगा। निकिता के विरोध करने के कारण तौफीक अपरहण करने में असफल होने पर पिस्तौल निकाल कर निकिता पर गोली चला दी। परिजन निकिता को सूचना मिलने पर अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टर्स ने निकिता को मृत घोषित कर दिया।

आरोपी तौफीक बारवी कक्षा तक निकिता के साथ पढ़ा है और पहले ही ऐसी हरकते कर चुका है। वह निकिता का धर्म परिवर्तन करके उस से शादी करना चाहता था लेकिन निकिता के इंकार के बाद उसे अपने इरादे सफल होते नजर नहीं आ रहे थे। तौफीक 2018 में भी निकिता का अपरहण कर चुका है जिसे पुलिस ने 2 ही घंटे में छुड़वा लिया था और उस समय पुलिस ने कोई कठोर करवाई नहीं कीजिसका खामियाजा आज निकिता को अपनी जान देकर चुकाना पड़ा।

उत्तर प्रदेश : लव जिहाद की आग में झुलसी एक और हिन्दू युवती

निकिता हत्याकांड में गिरफ्तार मुख्य आरोपित तौशीफ के दादा कबीर अहमद विधायक रह चुके हैं, जबकि चाचा खुर्शीद अहमद हरियाणा के पूर्व मंत्री रहे हैं। वहीं, एक अन्य रिश्तेदार आफताब अहमद वर्तमान में कांग्रेस के नूंह (मेवात) विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं और भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार में परिवहन मंत्री भी रहे हैं। इस रिश्ते से तौशीफ विधायक आफताब अहमद का चचेरा भाई है। तौशीफ के चाचा जावेद अहमद ने भी 2019 में सोहना विधानसभा क्षेत्र से बसपा की टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए।

पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के अनुसार मामला संज्ञान में आने के बाद तुरंत प्रभाव से क्राइम ब्रांच की 10 टीमों को जल्द से जल्द आरोपितों को गिरफ्तार करने के दिशा निर्देश दिए थे। जिस पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा फरीदाबाद से पलवल एवं मेवात तक चलाए गए ऑपरेशन के 5 घंटे के अंदर आरोपी को पकड़ लिया।

वही पीड़िता के भाई ने कहा कि अगर प्रशासन कार्रवाई में सक्षम नहीं है तो वो खुद कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर हिन्दू की बेटी है तो क्या कोई कुछ भी करेगा, अगर वही मुस्लिम की बेटी होती तो सारा प्रशासन यहाँ इकट्ठा हो जाता। साथ ही कहा कि इससे पहले पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, क्या वो उनके बहन के मरने का इंतजार कर रहे थे? परिजनों ने कहा कि न्याय नहीं हुआ तो वो खुद हथियार उठाएँगे।

निकिता तोमर के घरवालों ने आरोप लगाया है कि निकिता पर तौसीफ धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा था। तीन साल पहले इस संबंध में पंचों के सामने फैसला भी हुआ, लेकिन अभी हाल में दोबारा तौसीफ ने लड़की के संपर्क में आने का प्रयास किया। उसने बार बार निकिता को यही कहा, ‘मुस्लिम बन जा हम निकाह कर लेंगे’ मगर जब लड़की ने उसकी बात नहीं सुनी तो उसकी गोली मार कर हत्या कर दी।लव जिहाद का यह पहला केस नहीं है जिसमे मुस्लिम लड़कों ने हिन्दू लड़की का मर्डर किया हो, इस से पहले भी बहुत से मामले है जिसमे लव जिहाद का हथियार बना कर मुस्लिम लड़के हिन्दू लडकियों को बरगलाते है इसके बाद मानसिक शोषण और शारीरिक शोषण करके उन्हें जान से मार देते हैं। ये एक निकिता की बात है लेकिन अगर हिन्दू समाज समय पर न जागा तो ना जाने कितनी निकिता इन जिहादियों की जिहादी मानसिकता का शिकार होंगी इसलिए इन जिहादियों का समय पर इलाज करना ज़रूरी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *