तीस्ता जावेद सीतलवाड़

तीस्ता जावेद सीतलवाड़ – अर्बन नक्सलियों की चहेती

कौशल सिखौला तीस्ता जावेद सीतलवाड़ ! एक बड़ा अर्बन नक्सल सा नाम है न ?  अर्बन लॉबी के पटल पर विश्वभर में जाना जाता है। मोदी को सुप्रीम कोर्ट से गुजरात दंगों में 100% क्लीनचिट मिलने के बाद परसों हिरासत में ली गई हैं, जेल जाने के पूरे आसार हैं। देश में लाखों छोटे बड़े […]

Continue Reading
गुरुकुल का नाश

गुरुकुल का नाश करके मिशनरीज शिक्षा लागू होने से ये हुआ

अश्विनी त्रिपाठी गुरुकुल का नाश : गुरुकुल का नाश करके मिशनरीज शिक्षा लागू होने से तीन बहुत बड़ी बीमारी समाज को मिल गई – चरित्रहीनता – सखी प्रथा (गर्लफ्रेंड कल्चर) और व्यभिचार (विवाहेतर सम्बन्ध) अवसाद (डिप्रेशन) वैचारिक गुलामी – स्वरोजगार का अन्त विवरण : चरित्रहीनता – जब गुरुकुल से बच्चे निकलते थे तो 25 वर्ष […]

Continue Reading
कानून

स्वत: संज्ञान लेने वाला कानून कुंभकर्णी नींद में

प्रमोद शुक्ल  कई बार छोटी-छोटी बातों पर हाईकोर्ट और सुप्रीमकोर्ट स्वतह संज्ञान लेकर कानून के अनुरूप विवादों का निपटारा करने के लिए सक्रिय हो जाते हैं, पिछले 4 दिनों से महाराष्ट्र का राजनीतिक ड्रामा चालू है, लोकतंत्र का खुलेआम चीरहरण की कोशिश हो रही है, चौबीसों घंटे तमाम न्यूज़ चैनल इस चीरहरण के प्रयास का […]

Continue Reading
मोहनदास करमचंद गांधी

मोहनदास करमचंद गांधी की कथित सेक्स लाइफ़

गौरी शर्मा मोहनदास करमचंद गांधी की कथित सेक्स लाइफ़ पर एक बार फिर से बहस छिड़ गई है। लंदन के प्रतिष्ठित अख़बार “द टाइम्स” के मुताबिक गांधी को कभी भगवान की तरह पूजने वाली 82 वर्षीया गांधीवादी इतिहासकार कुसुम वदगामा ने कहा है कि गांधी को सेक्स की बुरी लत थी, वह आश्रम की कई […]

Continue Reading

कंफर्ट जोन की राजनीति : जब शिवसेना के नेताओं को नज़रअंदाज कर बैठे उद्धव ठाकरे

नीरज भदवार कंफर्ट जोन की राजनीति : एकनाथ शिंदे के कैंप में गए तमाम शिवसेना विधायकों ने उद्धव ठाकरे को एक खुला पत्र लिखा है, जिसमें उनकी पीड़ा, उनका दर्द झलक रहा है। उस पत्र से यह भी खुलासा हो रहा है कि महाराष्ट्र में पिछले ढाई वर्षों से किस तरह की सरकार चल रही […]

Continue Reading
ईसाई मिशनरीज

भारत में ईसाई मिशनरीज का एजुकेशन सिस्टम

ओम लवानिया ‘प्रोफेसर’ भारत में ईसाई मिशनरीज का एजुकेशन सिस्टम है, अधिकांश स्कूल-कॉलेज में। उनका पूरा एजेंडा वेस्टर्न कल्चर को स्थापित करना है। युवा पीढ़ी में सेंधमारी हो रही है, काफ़ी हद तक सफलता हासिल कर चुके हैं। इन स्कूल-कॉलेज में कूल डूड पढ़ते हैं या कहें बनकर निकलते हैं। कूल डुड मतलब जिनगी में […]

Continue Reading
रूस

रूस के खिलाफ न होने से सख्ते में आए भारत विरोधी सुपर पॉवर देश

उमा शंकर सिंह रूस यूक्रेन युद्ध में रूस की निंदा न करने और रूस से कच्चा तेल व कोयला खरीदते रहने के कारण अमेरिका, ब्रिटेन और योरोपियन देश भारत से झुंझलाए हुए हैं। भारत पर दबाव बनाने के लिए अमेरिका और यूरोपियन यूनियन खास तौर से जर्मनी फिर उसी पुरानी तिकड़म की कूटनीति पर आ […]

Continue Reading
लेफ्ट-लिबरल ईकोसिस्टम

मोदी सरकार के खिलाफ लेफ्ट-लिबरल ईकोसिस्टम की सुनियोजित साजिश

रोहन शर्मा दशकों में देशी-विदेशी फंड और विलासिताओं से सींचकर तैयार हुआ लेफ्ट-लिबरल ईकोसिस्टम सुनियोजित योजनाबद्ध तरीके से मोदी सरकार के प्रत्येक कदम के विरोध में उग्र हिंसक प्रतिक्रिया देकर सरकार और आम जनमानस के अंदर भय व असुरक्षा का संचार करने में जुटा हुआ है। उनके हाथों की कठपुतलियां और मुफ्त के टट्टू है […]

Continue Reading
अग्निपथ योजना

आज की हकीकत और अग्निपथ योजना

डॉ प्रदीप भटनागर जो यह कह रहे हैं कि अग्निपथ योजना युवाओं का भविष्य अनिश्चित करके उनका जीवन नष्ट कर देगी, वे क्या यह बता सकते हैं कि आज 17 से 23 साल के किस युवा को रोजगार मिल जाता है, जो 23 साल की उमर में 12 लाख पाने के बाद जीवन नष्ट कर […]

Continue Reading
अग्निपथ स्कीम

अग्निपथ स्कीम और फौज में जाने वाले ‘इच्छुकों’ की मानसिकता

नितिन त्रिपाठी भारतीय सेना की एक विंग है टेरिटोरियल आर्मी। यदि आपका सपना भारतीय सेना join करने का रहा हो, आप चूँक गए हों, अब व्यवसाय / कार्यरत हों तो भी 18-42 वर्ष की आयु के बीच TA join कर सकते हैं। ट्रेनिंग होगी, इसके पश्चात जब ज़रूरत होगी तब आपको बुलाया जाएगा. साल में […]

Continue Reading