गुरुकुल का नाश

गुरुकुल का नाश करके मिशनरीज शिक्षा लागू होने से ये हुआ

अश्विनी त्रिपाठी गुरुकुल का नाश : गुरुकुल का नाश करके मिशनरीज शिक्षा लागू होने से तीन बहुत बड़ी बीमारी समाज को मिल गई – चरित्रहीनता – सखी प्रथा (गर्लफ्रेंड कल्चर) और व्यभिचार (विवाहेतर सम्बन्ध) अवसाद (डिप्रेशन) वैचारिक गुलामी – स्वरोजगार का अन्त विवरण : चरित्रहीनता – जब गुरुकुल से बच्चे निकलते थे तो 25 वर्ष […]

Continue Reading
जयनारायण शर्मा

मध्य प्रदेश के जयनारायण शर्मा उर्फ बापजी का किस्सा

अजय रचनेकर मध्यप्रदेश में आगर मालवा नाम का एक जिला है। वहाँ के न्यायालय में सन 1932 ई. में जयनारायण शर्मा नाम के वकील थे। उन्हें लोग आदर से बापजी कहते थे। वकील साहब बड़े ही धार्मिक स्वभाव के थे और रोज प्रातःकाल उठकर स्नान करने के बाद स्थानीय बैजनाथमन्दिर में जाकर बड़ी देर तक […]

Continue Reading
हिंदू संस्कृति

हिंदू बच्चे संस्कृति विमुख क्यों होते हैं ?

देवेन्द्र सिकरवार   कल जब क्लास में ‘ट्राइकोडेस्मियम इराइथ्रियम’ के संदर्भ में पौराणिक ‘रक्त सागर’ (Red Sea) की व्याख्या कर रहा था तब एक बच्चे ने बड़ा मासूम सा सवाल किया, “सर, ये बाबा लोग इस भाषा में हमें ये क्यों नहीं बताते। कुछ सवाल करने पर डाँट कर बिठा क्यों देते हैं?” वह #देवकीनंदन […]

Continue Reading

मृदुला सिन्हा जी का निधन भारतीय कला संस्कृति अपूरणीय क्षति

प्रदीप भटनागर  (वरिष्ठ पत्रकार)  प्रख्यात लेखिका और गोआ की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा जी का निधन भारतीय कला संस्कृति की अपूरणीय क्षति है। मृदुला सिन्हा जी आत्मीयता से भरा एक ऐसा व्यक्तित्व था, जिसके स्नेह से आदमी अपने को भरा पूरा मानता था। अभी इसी वर्ष मार्च के शुरुआती दिनों में हम अयोध्या में मिले […]

Continue Reading