विश्व भुखमरी सूचकांक का एजेंडा वाला चरित्र

अमित सिंघल चूंकि कांग्रेसी बहुत शोर मचा रहे हैं कि भुखमरी सूचकांक के अनुसार भारत में नेपाल, पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं म्यांमार की तुलना में अधिक भुखमरी है। अतः मैंने सोचा कि वर्ष 2013 के भुखमरी सूचकांक में इन सभी राष्ट्रों की तुलना में भारत में अधिक भुखमरी होगी। आश्चर्य! 2013 के भुखमरी सूचकांक में भी […]

Continue Reading

पीएम नरेंद्र मोदी का ईमानदारी वाला गुण

प्रमोद शुक्ल ईमानदारी और कुटिलता जैसे गुण एक दूसरे के विपरीत हैं। किसी एक ही व्यक्ति में इन दोनों गुणों का एकसाथ होना दुर्लभ होता है। कोई भी व्यक्ति यदि ईमानदार होता है तो वह सरल होता है। उसमें कुटिलता का अभाव होता है। जैसे कि लाल बहादुर शास्त्री जी ईमानदार थे, इसीलिए सरल थे। […]

Continue Reading
भारतीय पत्नी

भारतीय पत्नी तब तक सुखी नहीं रह सकती……..

सनी राज वत्स भारतीय पत्नी तब तक सुखी नहीं रह सकती जब तक उसका पति अपनी मां से अत्यधिक लगाव रखेगा। महिला के सम्मान , बराबरी, राय को तब तक स्थान नहीं मिलेगा जब तक बेटा मां के पल्लू से लटका रहेगा और मां के महिमामंडन के चलते स्वतन्त्र रूप से कुछ न करेगा। हमारे […]

Continue Reading
भारत का दिन

आज भारत का दिन है !

एस ओम प्रकाश आज का दिन पूरी तरह से भारत का दिन है ! आज का ऐतिहासिक दिन एक भारतीय दिन है, भारत का दिन है, गर्व से उन्नत भारतीय ललाट का दिन है। आज का दिन हमारी पवित्र भूमि पर अपना अपवित्र नेमप्लेट ठोक कर गये विदेशी आक्रांताओं के नामपट को हटाकर सदा सदा […]

Continue Reading
देश की सफलता

जो लोग देश की सफलता पर खुश नहीं होते

मनीष शर्मा ‘उन’ लोगों के पास हमेशा ही बहाने होते हैं, देश की सफलता पर खुश ना होने के। देश की जीडीपी बढ़ गयी… तो Per Capita पर हल्ला मचाएंगे। जब मैं कहूँगा कि पिछले आठ साल में Per capita Income में 50% का उछाल आया है… तब कहेंगे कि HDI index में पीछे हैं। […]

Continue Reading

ये हम आ गए हैं कहां ?

एस ओम प्रकाश ये हम आ गए हैं कहां ? ये कहां….. आ गये हम ? आखिर हम क्या हैं और हम चाहते क्या हैं ? हम बबूल का पेड़ लगाकर आम की आशा करने वाली प्रजाति के विचित्र लोग हैं। हम टीवी खोलकर बिग बॉस देखने बैठ जाते हैं और इसमें आ रही गन्दी-गन्दी […]

Continue Reading
हिन्दू राष्ट्र

मोदी साहेब से हिन्दू राष्ट्र मण्डली का हुआ मोहभंग

एस कुमार अजीत भारती, संजय दीक्षित, तुफैल चतुर्वेदी और ऐसी ही प्रेरणा देने वाली यूट्यूब मण्डली अब ऊब चुकी है और विगत वर्षों से उन्होंने हिन्दू राष्ट्र का सपना छोड़, अपनी तोपें साहेब की ओर मोड़ दी है। एक मनोवैज्ञानिक ग्रंथि होती है, आप किसी से आशा रखकर उसके खेल में शामिल हो जाते हैं, […]

Continue Reading
कृषि कानून

ओ किसान ! अगर नए कृषि कानून को आने देते……

जितेंद्र सिंह अभी एक वीडियो देखा जिसमें एक व्यक्ति लहसुन बेचने मंडी गया, जहां 50 पैसे किलो का रेट लगा। तब वह अपना सारा लहसुन एक ब्रिज से नदी में फेंकता नजर आता है, और पूरा एक टेंपो लहसुन नदी में फेंक दिया । मालवा अंचल के कई मित्र भी फेसबुक पर लिख रहे हैं […]

Continue Reading

भारत में कोई खेती-भोजन संकट नहीं है !

नीतिन त्रिपाठी खेती-भोजन संकट : जिस तरह से सब जगह घर, दुकानें, फ़ैक्टरी रोड, इक्स्प्रेस वे बनते जा रहे हैं, कुछ वर्षों में खेती क्या होगी और इंसान खाएगा क्या। यह एक ऐसा भावुक स्टेटमेंट है जिससे हम सभी कहीं न कहीं एग्री करते हैं। फ़ैक्ट्स के धरातल पर यह स्टेट्मेंट कहीं नहीं टिकता. पचास […]

Continue Reading
भारत की समस्याओं

भारत की समस्याओं का स्थाई समाधान कर रही है सरकार

अमित सिंघल प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि पेट्रोल में इथेनॉल मिलाने से बीते 7-8 साल में भारत के लगभग 50 हजार करोड़ रुपए विदेश जाने से बचे हैं। और करीब-करीब इतने ही हजार करोड़ रुपए इथेनॉल ब्लेडिंग की वजह से देश के किसानों के पास गए हैं। यानि जो पैसे विदेश जाते थे, वो एक […]

Continue Reading