डीजी हेमंत कुमार लोहिया हत्या महज साज़िश या एक आतंकी पहलु ?

ट्रेंडिंग प्रमुख विषय
  • राजन कुमार झा


डीजी हेमंत कुमार लोहिया हत्या: जम्मू कश्मीर के डीजी जेल हेमंत लोहिया की हत्या उसी के नौकर ने कर दी। आरोपी का नाम यासिर है जो लोहिया के घर पर 6 महीने से काम कर रहा था। हत्या का पैटर्न दुनिया भर में प्रचलित सर तन से जुदा वाला है।

आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है। खबरें सामने आ रही हैं कि मौके से एक डायरी मिली है जिससे आरोपी के डिप्रेशन में होने या मानसिक रूप से परेशान होने की बातें की जा रही हैं जो की बकवास है।

डायरी में जो बातें लिखी हैं उसमें आरोपी अपने जीवन से निराश है डीजी साहब के नहीं। दूसरी बात – हत्या करते समय सभी चालाकियां की गईं। एकदम से नहीं मारा गया हत्या का तरीका प्रचलित है गला रेत कर और सबको पता है कौन लोग इस तरह से हत्या करते हैं। शव को जलाने की कोशिश की गई।


मोदी और पुतिन की युद्ध और शांति !

मोदी और पुतिन की युद्ध और शांति !


डीजी हेमंत कुमार लोहिया हत्या: जो खूनी आराम से गला रेतकर हत्या कर रहा है, लाश जलाने की कोशिश कर रहा है वह अपनी डायरी वहीं छोड़ देगा? क्या उसने जान बूझकर डायरी नहीं छोड़ा होगा अपने आप को डिप्रेस दिखाने के लिए? भागा भी तो ऐसे कि 12 घंटे के भीतर पुलिस ने उसे पकड़ लिया वह भी खेतों से… कहीं लिखा जा रहा है लाश दोस्त के घर मिली। यदि यह सच है तो नौकर वहां क्या कर रहा था? जिस दोस्त के घर लाश मिली वह कौन है कहां है?

बहुत सारे सवाल हैं जिनका जवाब पुलिस को देना होगा। यह सिर्फ कत्ल है या कोई बड़ी साजिश का एक पहलू? आतंकी घटना है या बात कुछ और है?

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *